अनुभव इंसान को ग़लत फैसलों से बचाता है
मगर अनुभव भी ग़लत फैसलों से ही आता है

अगर गलती किसी और की है तो मुझे गुस्सा होने की जरूरत नहीं। अगर गलती मेरी है तो मुझे गुस्सा होने का अधिकार नहीं

किसी को ठीक-ठीक पहचानना है तो उसे दूसरों की बुराई करते सुनो ध्यान से सुनो

हर परिस्थिति में सकारात्मक रहने वाले इंसान की कामयाबी तय है।

धैर्य रखें चाहे परिस्थिति कुछ भी हो। धैर्य इंसान को सकारात्मक बनाता है।

''अधिक खबरें जानने के लिए-नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें''