Chhath Puja: जहरीली यमुना नदी में डुबकी लगाने में मजबूर श्रद्धालु, तस्वीरों से दिख रही है सरकार की नाकामी

साल 2021 में छठ पूजा(Chhath Puja) का आगाज हो गया है। महापर्व छठ पूजा को मुख्य रूप से बिहार, झारखंड और यूपी के सीमावर्ती क्षेत्रों के लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं। ऐसे में देश के अलग-अलग शहरों में बसे बिहार के लोग छठ पूजा को उसी के साथ श्रद्धा से पूजा अर्चना करते हैं। इसी में देश की राजधानी में दिल्ली में छठ पूजा को अनुष्ठानों का पालन करते हुए करते हुए अपने इस त्यौहार को मनाते हैं। लेकिन दिल्ली में हर साल छठ मनाने के लिए व्रतियों को जहरीली यमुना में खड़े होकर सूर्य देव को अर्घ्य देना पड़ता हैं। इस साल भी दिल्ली में महापर्व छठ के लिए व्रतियों ने यमुना में जहरीले झाग के बीच जाकर पूजा करनी पड़ रही है। दिल्ली सरकार( Delhi Government) हर साल यमुना नदी की सफाई के लिए बड़े-बड़े वादें करती हैं। लेकिन सर्कार के ये वादे बस कागजों में ही दिखते नजर आते हैं।

वहीं एक वीडियो वायरल हो रही है। जिसमें सरकार की नाकामी साफ-साफ दिख रही हैं। छठ पूजा के पहले दिन दिल्ली के भक्तों के साथ कलिंदी कुंज में यमुना नदी के तट पर प्रार्थना करते हुए नजर आ रही है। वीडियो में साफ़ दिख रहा है कैसे पूजा स्थल पर जहरीला फोम। लेकिन मजबूरन भक्तों को ऐसे स्थान पर पूजा करनी पड़ रही है।

Chhath Puja

जैसा की आप तस्वीरों में देख रहे हैं भक्तों को इस जहरीली नदी में मजबूरन पूजा करनी पड़ रही है। वहीं छठ पर्व के कारण श्रद्धालु इसी जहरीले पाने में स्नान करने को मजबूर हैं।

यमुना नदी के घाट पर दिल्ली के कोने-कोने से श्रद्धालुं पूजा अर्चना करने आते हैं। जिससे छठ घाट में भी लोगों की चहल-पहल बढ़ जाती हैं। ऐसे में लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। सरकार को यह नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और इसके लिए जल्द-जल्द से समाधान निकलना चाहिए।

वहीं विशेषज्ञों के अनुसार, यमुना नदी पर झाग की जहरीली परत का कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से आता सीवेज में फॉस्फेट और सर्फेक्टेंट का परिणाम बताया गया हैं।

वहीं वायरल वीडियो देख भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया की दिल्ली के पानी और वायु को साफ करने के बजाय आप सरकार ने दोनों को जहरीला बना दिया है। उन्होंने कहा कि (दिल्ली मुख्यमंत्री) अरविंद केजरीवाल 2013 से कह रहे हैं कि उनकी सरकार पांच साल में यमुना को स्नान के लिए फिट कर देगी। लेकिन आज, दिल्ली की हवा और पानी दोनों ही जहरीले हैं। उन्होंने यमुना पर छठ उत्सव की अनुमति नहीं दी ताकि कोई यह न देख सके कि नदी कितनी जहरीली हो गई है।

Leave a Comment