NEW CM OF UTTRAKHAND : दूसरी बार पुष्कर धामी बने उत्तराखंड के नए सीएम

 

उत्तराखंड सीएम : कुछ महीने पहले देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए । जिसमें एक राज्य उत्तराखंड भी था । उत्तराखंड में बीजेपी तो जीत गई लेकिन सीएम पुष्कर धामी चुनाव हार गए । तमाम तरह की उठापटक के बाद आखिर सभी विधायको ने पुष्कर धामी को अपना मुख्यमंत्री चुन लिया। पुष्कर धामी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड में 47 सीटें जीती । अपने सात महीने के कार्यकाल में पुष्कर धामी जनता के दिल में खरे उतरे।  साथ ही जनता की नाराज़गी को भी दूर करने का काम किया । केंद्रीय दल को भी खुश रखा जिसका इनाम उन्हे यह मिला की वह दूसरी बार मुख्यमंत्री चुने गए ।

बीजेपी को मुश्किलों से मिली जीत

उत्तराखंड की खटीमा विधानसभा सीट से हारने के बाद भी उन पर भरोसा किया गया और एकमत होकर उत्तराखंड की कमान दे दी गई। चुनाव से पहले और नतीजे आने तक यह साफ नहीं हो पा रहा था कि आखिर उत्तराखंड का मुख्यमंत्री कौन होगा। क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व ने पांच सालों में 3 मुख्यमंत्री बदले है इस लिहाज से जानकर अनुमान लगा रहे थे कि शायद पुष्कर धामी का  सफ़र समाप्त हो गया है लेकिन ऐसा नहीं हुआ । पुष्कर धामी को जब से उत्तराखंड की कमान मिली थी उनका काम उनकी तत्परता को काफी सराहा गया इसी बात को लेकर उन्हे कमान दी गई। देशभर में बीजेपी को लेकर जिस तरह से आक्रोश चल रहा था उसे देखते हुए जीत मिलना काफी मुश्किल थी। फिर भी जमीनी स्तर को समझते हुए बीजेपी ने अपने वोटरों को निराश नहीं किया।

विपरीत परिस्थितियों से अलग मिली जीत

उत्तराखंड में जिस तरह से बीजेपी को जीत मिली वह वाकई हैरान करने वाली थी साथ ही यह भी समझा जाता है कि कांग्रेस की नीति जनता को समझ नहीं आ रही वह धीरे धीरे सिकुड़ रही है। आइए अब बात करते है पिछले चुनाव की।  साल ,2017 में जब उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव हुए तो 70 सीटों में भाजपा ने 57 सीट अपने नाम कि थी । त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया गया था।  इसके बाद बीजेपी शीर्ष दल को पता नहीं क्या सूझा कि उन्होंने 3 साल 357 दिन के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया। फिर उनके स्थान पर तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया जिनका कार्यकाल महज 116 दिन रहा। फिर जुलाई 2021 को खटीमा विधानसभा के विधायक पुष्कर धामी को सूबे की कमान सौंपी गई। सात महीने की मेहनत ऐसी सफल रही की पुष्कर धामी ने बीजेपी को 47 सीटें मे जीत दिला दी ।और केंद्रीय दल ने उन पर भरोसा जताते हुए मुख्यमंत्री का पद दे दिया। छह महीने के अंदर तीन मुख्यमंत्रियों को बदलना आसान नहीं था यह जानते हुए कि चुनाव सर पर खड़ा है। जनता में रोष था लेकिन पुष्कर धामी ने सम्भाल लिया।  

जनता के दिल में बस गए धामी

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी की उम्र 46 साल है उन्होंने अपनी मेहनत और साफ सुथरी छवि से एक अलग पहचान बना ली। खासकर युवाओं के बीच एक अलग जगह बनाई।  पुष्कर धामी ने जब चार जुलाई 2021 को उत्तराखंड की कमान संभाली तो एक महीने बाद 15 अगस्त को कई बड़े ऐलान कर दिए। छात्रों को लैपटॉप ,  खिलाड़ियों के लिए खेल नीति ,रेल लाइन ऐसी तमाम योजनाओं को अमलीजामा पहनाया।  खास बात यह है कि उत्तराखंड में पिछले 20 सालों में 10 मुख्यमंत्री बदले गए है और पुष्कर धामी 11वें मुख्य मंत्री है ।

 

 

Leave a Comment