Politics : पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद हुए TMC में शामिल, कांग्रेस नेता अशोक तंवर ने भी थामा ममता दीदी का हाथ

New Delhi : राजनीति में ना कोई किसी का हमेशा दुश्मन रहता है ना दोस्त। राजनीति में कुछ भी मुमकिन है। निजी स्वार्थ के लिए कोई भी अपनी पार्टी और विचारधारा बदल सकता है। हाल ही में 1983 क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम के सदस्य कीर्ति आजाद आजाद ने ममता बनर्जी का दामन थाम लिया। वहीं राहुल गांधी के करीबी अशोक तंवर ने भी कांग्रेस से नाता रिश्ता तोड़ टीएमसी में शामिल हो गये।

कीर्ति आजाद ने तीसरी बार बदली पार्टी

टीएमसी में शामिल हुए कीर्ति आजाद ने अपने राजनैतिक सफर की शुरुआत भाजपा के संग की थी। पर 2015 में उनका भाजपा से मोह भंग हो गया। आजाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद के पुत्र हैं। क्रिकेटर के तौर पर उन्होंने 1983 में भारत की तरफ से वर्ल्ड कप खेला था। जिसमें भारत की ऐतिहासिक जीत हुई थी। वह दरभंगा से 2014 में तीसरी बार BJP से सांसद चुने गए थे, लेकिन 23 जुलाई 2015 को BJP ने निलंबित कर दिया गया था। उन्होंने सीधे तौर पर दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। इसके बाद BJP ने यह कदम उठाया था। 2018 में वो कांग्रेस में शामिल हुए थे। मगर वहाँ भी उनकी आकांक्षाएँ पूरी ना सो सकी और अंततः वो मामता के पार्टी में आ गये। टीएमसी में शामि होने के बाद कीर्ति आजाद ने कहा कि मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में मैं राष्ट्र के विकास के लिए काम करूंगा। आज देश को उनके जैसे व्यक्तित्व की जरूरत है जो देश को सही दिशा दे सके।

राहुल के करीबी अशोक तंवर भी टीएमसी में शामिल

राहुल गांधी के करीबी कहे जाने वाले अशोक तंवर भी टीएमसी में शामिल हो चुके हैं। वह 2009-2014 के दौरान सिरसा से सांसद थे और पार्टी की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष भी थे। उन्होंने अक्टूबर 2019 में हरियाणा विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले कांग्रेस छोड़ दी थी। इस साल फरवरी में उन्होंने अपना भारत मोर्चा नाम से पार्टी बनाई थी। सूत्रों का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद तंवर को हरियाणा में पार्टी के नेतृत्व की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

Leave a Comment