competitive exams after 12th commerce : 12 वीं कॉमर्स पास करने के बाद क्या है करियर विकल्प

 

Exame after 12th commerce – सही मायनों में एक छात्र की राहें 12वीं पास होने बाद ही खुलती है कई छात्रों को पता होता है कि उन्हें आगे किस दिशा में अपना भविष्य संवारना है तो कइयों को समझ ही नहीं आता की आखिर इंटरमीडिएट के बाद क्या करें । आज हम कॉमर्स से जुड़े छात्रों के बारे में बात करेंगे । इसमें भी कई ऐसे छात्र ऐसे होते है जिन्हे समझ नहीं आता कि 12वीं कॉमर्स के बाद क्या करें जिससे उनका भविष्य उज्जवल हो जाए । अगर बात कॉमर्स की करें तो इस फील्ड में करियर बनाने के लिए विकल्प बहुत मौजूद है बस आपको ईमानदारी और मेहनत से उस राह पर चलना होगा तभी आप सफल होंगे । आज आपको कुछ ऐसे ही विकल्प बताने जा रहे है

Show content List

  1. चार्टर्ड अकाउंटेंट | charted accountant
  2. चार्टर्ड सचिव | chartered secretary
  3. बी कॉम | B .com

12वीं पास कॉमर्स छात्रों के पास ये है विकल्प

चार्टर्ड अकाउंटेंट | charted accountant

कई युवाओं को देखा गया है कि सामने विकल्प होते हुए भी अजनबी हो जाते है लेकिन उनके लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट यानी CA बनने का सुनहरा मौका होता है CA एक कोर्स होता है छात्र का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 50% अंको के साथ 12वीं पास होना जरूरी है। आपको बता दें कि 12वीं के बाद CA कोर्स 5 वर्ष की अवधि है इंटरमीडिएट के बाद छात्र CA फाउंडेशन कोर्स के लिए योग्य हो जाते है । CA इंटरमीडिएट के किसी भी वन ग्रुप को क्लियर करने के बाद आवेदक तीन साल के लिए आर्टिकलशिप ट्रेनिंग के लिए पात्र होते है इसके बाद आपको CA फाइनल परीक्षा की तैयारी के लिए 5 महीने की अध्यन के लिए समय मिलेगा फिर आप पूरी तरह चार्टर्ड अकाउंटेंट बन सकते है ।

चार्टर्ड सचिव | chartered secretary

छात्र 12वीं के बाद 50% अंको के साथ सीएस में अपना भविष्य संवार सकते है । वैसे चार्टर्ड सचिव का काम कम्पनी रिटर्न को पूरा करना होता है साथ ही सलाहकार बोर्ड की बैठक के लिए ओएमआर तैयार करता है । और सभी वैधानिक नियमों को सुनिश्चित करता है। कई छात्र सीएस भी चुनते है जो स्नातक के बराबर होता है ।

बी कॉम | B .com

ज्यादातर देखा गया है कि छात्रों को जब कुछ नहीं सूझता या फिर कुछ पहले से मन बनाए बैठे होते है कि 12वीं के बाद बी कॉम में दाखिला लेना है  इसमें आपको तीन साल की स्नातक डिग्री लेनी होती है इसमें पढ़ाई की बात करें तो अकाउंट्स, स्टेटिक्स, मैनेजमेंट, ह्यूमन रिसोर्स जैसे विषय का अध्यन कराया जाता है । अगर आपको अर्थशास्त्र पसंद है और इकोनॉमी करना चाहते है तो आप यह भी कर सकते है ।

 

 

 

 

 

Leave a Comment