T20 World Cup 2021 : 8 नवंबर को भारतीय टीम का मुकाबला नामीबिया से, T20 में पहली बार भीड़ेंगी दोनों टीमें

टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) में इंडियान क्रिकेट टीम का अगला मैच नामीबिया से है। इस टूर्नामेंट में भारत की शुरुआत ख़राब रही थी। पहले मुकाबले में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान और दूसरे मुकाबले में न्यूजीलैंड ने भारत को बुरी तरह हराया था। अपने शुरुआती दो मैचों में लचर प्रदर्शन करने के बाद भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप में शानदार वापसी की है और सेमीफाइनल खेलने की आस को जिंदा रखा। अब 8 नवंबर को भारत का अगला मुकाबला नामीबिया से होने वाला है। सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित करने के लिए भारत को अपने आखिरी मैच में नामीबिया को बड़े अंतर से हराना होगा, साथ ही ये उम्मीद करनी होगी कि रविवार को मोहम्मद नबी की अगुआई वाली अफगानिस्तान की टीम न्यूजीलैंड को धूल चटाने में कामयाब रहे। ये सभी समीकरण पूरा होने के बाद ही टीम इंडिया सेमीफाइनल में जगह बना सकती है। 

नामीबिया ने अबतक बस एक मैच जीता है

नामीबिया की टीम ने राउंड-1 स्टेज के मुकाबले में शानदार प्रदर्शन कर सुपर-12 में जगह बनाई। उन्हें ग्रुप-2 में स्थान मिला जहां भारत, पाकिस्तान और न्यूजीलैंड जैसी ताबड़तोड़ टीमें मौजूद थीं। नामीबिया का पहला मुकाबला स्कॉटलैंड से था। इस मैच में उसे 4 विकेट से जीत मिली थी। फिर नामीबिया की भिडंत हुई अफगानिस्तान से। इस में अफगानिस्तान का पलड़ा भारी रहा था। नामीबिया का तीसरा मुकाबला था पाकिस्तान से। यह मुकाबला एक तरफा रहा और पाकिस्तान ने नामीबिया को 45 रनों से हरा दिया। नामीबिया का चौथा मैच था न्यूजीलैंड से। इस मैच में भी नामीबिया का प्रदर्शन बुरा रहा और न्यूजीलैंड ने उसे 52 रनों से हरा दिया। अब 8 नवंबर को नामीबिया अपना पांचवा और अंतिम मुकाबला भारत के बनाम खेलेगी। गौरतलब है कि इन दोनों टीमों के बीच अबतक कोई टी20आई मैच नहीं खेला गया है। दोनों टीम पहली बार एक दूसरे से रूबरू होंगी।

भारत बनाम नामीबिया, 2003 वर्ल्ड कप

नामीबिया और भारतीय टीम के बीच आखिरी मैच 2003 वर्ल्ड कप में हुआ था। यह मैच ऐतिहासिक रहा था। इस मैच का खुमार अबतक क्रिकेट प्रेमियों के सर चढ़कर बोलता है। बता दें कि उस मैच में भारत के दो दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने शानदार शतक जड़कर विरोधी बॉलिंग अटैक को नष्ट कर के रख दिया था। साउथ अफ्रीका में खेले गए उस यादगार मैच में नामीबिया ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। जिसके बाद सचिन-सहवाग की विस्फोटक जोड़ी ने मैदान पर उतरी। ओपनर वीरेंद्र सहवाग ज्यादा देर तक नहीं टिके और 24 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। लेकिन उसके बाद सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने मिलकर 244 रनों की शानदार साझेदारी की और भारत को मजबूर टार्गेट की ओर ले गये। मास्टर ब्लास्टर तेंदुलकर ने 151 गेंदों पर 152 रनों की बेहतरीन पारी खेली, वहीं उस वक्त के कप्तान सौरव गांगुली ने 119 गेंदों पर 112 रन बनाए। भारत ने नामीबिया के सामने 312 रनों का मुश्किल टारगेट दिया। जवाब में नामीबियन की टीम महज़ 130 रन ही बना सकी। हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने महज 4.3 ओवर में 6 रन देकर 4 विकेट हासिल किए। सचिन को उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

Leave a Comment