WHAT IS TRADE UNION : क्या है ट्रेड यूनियन , एक वर्कर के लिए कितना है महत्व

 

 

ट्रेड यूनियन : पिछले महीने भारत में भारत बन्द था। इसका प्रभाव केंद्र और राज्य सरकार की अर्थव्यवस्था में पड़ा। क्योंकि यह भारत बन्द अलग अलग ट्रेड यूनियन की तरफ से किया गया । ऐसे यूनियन भारत सरकार की बनाई गई आर्थिक नीतियों से परेशान होकर बन्द का ऐलान किया था । सरकारी दफ्तर से लेकर कई प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी भी बन्द रहती है । लेकिन आपने कभी सोचा है कभी आखिर यह ट्रेड यूनियन क्या है एक वर्कर के लिए इसका महत्व क्या है । आइए जानते है इससे जुड़ी पूरी जानकारी ।

किसे कहते है ट्रेड यूनियन

दोस्तों ट्रेड यूनियन को आम भाषा में लेबर यूनियन भी कहते है । यह ऐसा यूनियन है जिसमें किसी क्षेत्र विशेष के वर्करों द्वारा गठित किया जाता है । इसमें कई बड़ी संख्या में वर्कर होते है जो अपने यूनियन के हित के लिए कार्य करते है । इसमें यूनियन अपने वर्कर को उचित वेतन , कार्य करने का अच्छा माहौल काम करने के घंटे और समय समय पर वर्करों के मुद्दे पर अपने कामगारों की मदद करते है । आपको बता दें कि ट्रेड यूनियन अपने वर्कर के ग्रुप का प्रतिनिधित्व करते है । मैनेजमेंट और लिंक या कड़ी के बीच कार्य करते है । इन यूनियन का मकसद वर्कर की शिकायत को भेजना और उनके मुद्दे को उठाना यही कार्य होता है ।

क्या है ट्रेड यूनियन का इतिहास

जब हम किसी मुद्दे की बात करते है तो उसके पीछे कोई न कोई इतिहास होता है । ऐसा ही कुछ इतिहास ट्रेड यूनियन का है ट्रेड यूनियन की उत्पत्ति ग्रेट ब्रिटेन , उपमहाद्वीप , यूरोपीय देश के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई थी । विदेशों में ट्रेड यूनियन को श्रम आंदोलन कहते है । कई देशों में 18वीं शताब्दी के वर्कर के छोटे छोटे ग्रुप दिखाई देते है । 19 वीं सदी में यह बेहद सक्रिय हो गए थे। इनकी बढ़ती सक्रियता से सरकारों का दखल रहता है । अमेरिका और ब्रिटेन दोनों देशों में ऐसे ट्रेड यूनियन को बाधाओं का सामना करना पड़ा है । दुनिया के कई देशों में ट्रेड यूनियन के अपने नियम है काम करने के लिए । इस लिहाज से वर्करों की समस्याओं को परखना ट्रेड यूनियन का काम है ।

क्या है ट्रेड यूनियन एक्ट

भारत में ट्रेड यूनियन , ट्रेड यूनियन एक्ट द्वारा संचालित किया जाता है । आपको बता दें कि ट्रेड यूनियन एक्ट ट्रेड यूनियनों के गठन को लीगल बनाता है । इसमें ट्रेड यूनियन के लिए सुरक्षा प्रदान करता है  यहां 1926 का ट्रेड यूनियन   
एक्ट वेलफेयर कानून है । जो ऑर्गनाइज्ड और अन ऑर्गनाइज्ड वर्करों को अमानवीय व्यवहार से बचाता है और उन्हें उनके अधिकार भी दिलाता है । इन ट्रेड यूनियन का रजिस्ट्रेशन और प्रोटेक्शन एक्ट द्वारा होता है ।

क्या है इसका महत्व

* काम और मजदूरी के भुगतान के सम्बन्ध में विवादों के सम्बन्ध में श्रमिको को कानूनी सहायता प्रदान करना होता है।

* वर्करों को अच्छा वेतन देना उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारना ट्रेड यूनियन का पहला उद्देश्य है ।
* श्रमिको के मुनाफे से उनकी बोनस प्रदान करना 
* वर्करों को बेहतर सुरक्षा और उनके स्वास्थ्य कल्याण योजनाओं की सुरक्षित करना। 
* वर्करों की छटनी से उनकी नौकरी बचाना ।

Leave a Comment