क्या आपको झारखंड के बारे में ये दिलचस्प बातें पता हैं?

Facts about Jharkhand : 15 नवम्बर 2000 को झारखंड की स्थापना हुई थी। अब झारखंड 21 साल का हो चुका है और तरक्की की राह पर अग्रसर है। आज हम आपको झारखंड से जुड़े कुछ तथ्य बताएंगे जिसे आपने आज से पहले ना पढ़ा होगा और ना सुना।

• झारखंड की राज्य पक्षी कोयल है। राज्य पशु हाथी, राज्य वृक्ष साल और राज्य का फूल पलाश है।

• झारखंड विद्रोहियों की ज़मीन है। यह अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आदिवासी विद्रोह का गढ़ रहा था। 1857 के विद्रोह से तकरीबन 100 साल पहले तिलका मांझी के नेतृत्व में स्थानीय संथाल जाति ने विद्रोह की लौ जलाई थी और वह अंग्रेजों को धूल चटाने वाले पहले आदिवासी नेता बन गये थे।

• तिलका मांझी के बाद 1855 में दो भाइयों सिंधु और कान्हु ने अंग्रेजों के खिलाफ जंग छेड़ दी। फिर 1895 में बिरसा मुंडा ने विद्रोह किया जो 1900 तक चला। यह सबसे बड़ा और सबसे लंबा चलने वाला जनजाति विद्रोह रहा। आज की तारीख में बिरसा मुंडा को झारखंड में देवतुल्य माना जाता है।

• झारखंड में नक्सली उग्रवाद और माओवाद की गंभीर समस्या है। अब तक हजारों मासूम झारखंडी इस समस्या के कारण जीवन खो चुके हैं।

• जमशेदपुर झारखंड का सबसे बड़ा औद्योगिक शहर है। 1907 में जमशेदपुर शहर की स्थापना जमशेदजी टाटा ने की थी। यहां टाटा स्टील लिमिटेड सबसे बड़ी कंपनी है।

• यह राज्य जनजाति बहुल है जिनकी आबादी 28 फीसदी है। 12 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति से संबंधित है। इस राज्य की मुख्य जनजाति संथाल, ओरांव, मुंडा, हो, खरिया, भुमजी आदि हैं।

• झारखंड में प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ धाम की नगरी देवघर है। यह बारह शिव ज्योर्तिलिंग में से एक है। हर साल लाखों लोग यहाँ देवघर आकर बाबा बैद्यनाथ के दर्शन करते हैं।

• झारखंड का राजकीय पशु हाथी, राजकीय पक्षी कोयल है और राजकीय फूल पलाश है।

• झारखंड में करीब 30 श्रेणियों के आदिवासी समुदाय बसते हैं।

• झारखंड में ऊंची पर्वत चोटी “पारसनाथ” है जिसकी ऊँचाई लगभग 1366 मीटर है।

Leave a Comment