Soil Health Card Yojana- किसानों को रोजगार का अवसर देती मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना

Mrida Swasthya Card Yojana- सरकार ने गांवों को नया जीवन और किसानों के लिए कई ऐसी योजनाओं की स्वीकृति दी है जिससे आज किसान अपने जिंदगी में नए जीवन और अवसर को नई दिशा दे रहे है । जिससे लाखों किसानों को फायदा मिल रहा है। आज हम आपको ऐसी ही एक योजना के बारे में बताएंगे जिससे छोटे बड़े लाखों किसान इस योजना से लाभ उठा रहे है ।
क्या है मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना

भारत सरकार ने किसानों के हित और उनके स्वास्थ्य को देखते परखते हुए इस योजना (Soil Health Card) की साल 2015 में शुरुआत की । इस योजना के तहत किसानों की जमीन की मिट्टी की गुणवत्ता का अध्यन करके एक अच्छी फसल प्राप्त करने मे सरकार की तरफ से सहायता दी जाती है। इस योजना में किसानों को एक हेल्थ कार्ड दिया जाएगा। जिसने देखा जाएगा कि किसानों के खेत की मिट्टी किस प्रकार की है l इसकी जानकारी दी जाएगी । इससे किसान अपनी जमीन की मिट्टी की गुणवत्ता के आधार पर अच्छी फसल की खेती कर सके । केंद्र सरकार की तरफ से यह कार्ड 3 सालों में किसानों को प्रदान किया जाएगा। जैसा कि हमने ऊपर कहा की कार्ड किसानों को उनके खेतों की गुणवत्ता के आधार पर ही दिया जाएगा । जो कि तीन साल में एक बार दिया जाएगा।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की मुख्य तथ्य को समझिए

Mrida Swasthya Card Yojana
  • इस योजना के तहत सरकार का मकसद देश के किसानों की खेतों की मिट्टी जांच करके मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करना है
  • इसका लाभ देश के 14 करोड़ किसानों को लाभ देना है
  • इसमें किसानों को उनके खेतों के अनुसार फसल लगाने के बारे में बताया जाएगा
  • इसमें किसानों को एक रिपोर्ट भी दी जाएगी इस रिपोर्ट में किसान की जमीन की पूरी जानकारी होगी ।
  • इसके तहत किसानों को तीन साल में सिर्फ एक बार ही कार्ड दिया जाएगा ।
  • सरकार ने इस योजना के लिए 568 करोड़ का बजट तय किया है।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लाभ और विशेषताएं (Soil Health Card Scheme Benefits )

  • सोयल हेल्थ कार्ड सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है किसानों के प्रति ।
  • इस योजना के माध्यम से किसान अपने खेत की मिट्टी की उपज बढ़ा सकते है
  • इस योजना को किसानों की आय में वृद्धि करने एवम खाद के उपयोग से मिट्टी के आधार और संतुलन को बढ़ाने का काम करेगा।
  • इस कार्ड से किसानों की आय के साथ साथ फसल की उत्पादकता बढ़ेगी

कैसे काम करता है ये कार्ड

  • सबसे पहले कृषि अधिकारी आपके खेत की मिट्टी का सैंपल इकठ्ठा करेंगे।
  • इसके बाद मिट्टी को लैब में जांच के लिए भेजा जाएगा और गुणवत्ता देखी जाएगी
  • मिट्टी की जांच करके उसकी गुणवत्ता चेक करने के बाद ही कार्ड बनाया जाएगा
  • यदि मिट्टी में कोई कमी दिखी तो उसके सुधार की जानकारी दी जाएगी साथ ही सूची बनाई जाएगी ।
  • किसान अपने मिट्टी की उपरोक्त जानकारी जल्द से जल्द देख सके इसके लिए इसकी जानकारी मोबाइल पर दी जाएगी।

Leave a Comment