Shramew Jayate Yojana : श्रमिकों को शसक्त बना रही दीन दयाल श्रमेव जयते योजना

देश में श्रम करने वाले मजदूरों को हमेशा दूसरी नजर से देखा जाता रहा है मतलब श्रमिकों के प्रति भारतीयों के मन में अच्छी भावना नहीं है । ऐसे श्रमिकों को सिर्फ एक साधारण कर्मचारी की भांति देखा जाता है, और बड़े लोग इनसे जो मन चाहे वो सब काम करवा लेते है ।

इनकी परेशानी और जरूरत को कोई नहीं समझता । कई जगह तो इनकी देखभाल भी सही तरीके से नहीं होती । कभी कभी ऐसे कामों को ये अंजाम देते है जिससे इनकी जान माल का खतरा होता है । कई बीमारियां इनके शरीर में दस्तक देने लगती है । कुल मिलाकर अगर कहें तो श्रमिकों की स्थित काफी दयनीय है । इसी सिलसले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रमिकों की समस्या हल करने जा निर्णय लिया था ।

एक योजना की शुरुआत कर श्रमिकों को नया जीवन देने का काम किया । वो योजना है श्रमेव जयते योजना । आज हम आपको इस योजना से जुड़ी हर बात अपने इस आर्टिकल के जरिए बताएंगे । आखिर पीएम नरेंद्र मोदी ने क्या सोचकर श्रमिकों के लिए इस योजना की शुरुआत की ।

श्रमेव जयते योजना क्या है (What is Shramew Jayate Yojana)

देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने श्रमिकों के लिए इस योजना की शुरुआत साल 2014 में की थी । तब प्रधानमंत्री ने कहा था कि हमारा देश दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश है और यहां श्रम की अत्यधिक आवश्यकता है । श्रमिकों को मान सम्मान से देखा जाए । साथ ही उनके इलाज के लिए जिम्मेदारी बने । इसी वजह से श्रम को उचित दर्जा देने की जरूरत है । अब समय सा गया है कि श्रमिकों के प्रति लोगों का नजरिया बदलें । पंडित दीन दयाल उपाध्याय श्रमेव जयते योजना प्रारंभ की गई । मतलब श्रम जांच कार्यक्रम और भविष्य निधि मे जमा करने वाले कर्मचारियों के लिए बैंकों में एक समान अकाउंट की शुरुआत भी की है । सरकार ने जब यह योजना की शुरुआत की थी इसका उद्देश्य श्रमिकों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान के लिए सरकारी सहायता को बढ़ाना है यही नहीं वि मेक निर्माण क्षेत्र को और उसे प्रोत्साहित करने के लिए मेक इन इंडिया के अभियान में सफलता मिलेगी । इस योजना के तहत ऐसे कदम उठाए जाएंगे जिससे व्यवसाय की बाधाओं को दूर करने में मदद मिलेगी।

सरकार की पहल क्या है

इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा कुछ अहम पहल की गई है

श्रम सुविधा पोर्टल खोलना

पीएम मोदी ने डिजिटल इंडिया के तहत सभी योजनाओं को डिजिटलीकरण करना जरूरी समझा है । यही वजह है कि श्रम योजना का पोर्टल भी बनाया है यह पोर्टल श्रम सविधा है इसमें करीब 6 लाख इकाइयों को श्रम पहचान संख्या आवंटित करेगा । इसके बाद 44 श्रम कानूनों में से 16 कानून के लिए ऑनलाइन अनुमति दायर करने की इजाजत देगा । श्रमिक अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे और समय पर उनका निस्तारण होगा।

स्वास्थ्य बीमा योजना

सरकार का मकसद है कि इस योजना की मदद से संगठित क्षेत्र में मजदूरी करने वाले मजदूरों को लाभ मिलेगा । इनको स्मार्ट कार्ड दिया जाएगा। इसमें सामाजिक और सुरक्षा का विवरण होगा ।

युनिवर्सल होगा अकाउंट नंबर

इस योजना के अंतर्गत सभी श्रमिक मज़दूरों को एक युनिवर्सल अकाउंट नंबर दिया जाएगा । इसमें करीब 4 करोड़ कर्मचारियों का अपना पोर्टेबल , परेशानी मुक्त साथ ही भविष्य निधि खाता होगा। इस युनिवर्सल अकाउंट नंबर की मदद से आप कहीं भी इसका संचालन कर सकते है। अकाउंट नंबर को आधार कार्ड से जोड़ा जाएगा ।

कैसे करें आवेदन

अगर आप श्रमिक जयते योजना के लिए आवेदन करना चाहते है तो आपको ई श्रम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा । या फिर लोकवाणी केंद्र पर जाकर अधिक जानकारी के साथ कर सकते है ।

Leave a Comment