One Nation One Ration : समझिये वन नेशन वन राशन कार्ड योजना आसान भाषा में

One Nation One Ration Card Scheme : वन नेशन वन राशन कार्ड योजना (One Nation One Ration Card Scheme) की शुरुआत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत हुई थी। इस योजना के तहत राशन कार्ड धारण करने वाला नागरिक देश के किसी भी राशन की दुकान से राशन ले सकता हैं। इस योजना के तहत देश भर में करीब 5.25 लाख राशन की दुकानें रजिस्टर हैं। यानी जिनके पास भी राशन कार्ड है वो इन दुकानों से राशन ले सकते हैं। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है वो इस योजना का लाभ नहीं उठा सकेंगे।

जो लोग दूसरे राज्यों में काम करते हैं वो भी इस योजना के तहत किसी भी राशन की दुकान से राशन खरीद सकते हैं। इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए दूसरे राज्यों में गए मजदूरों को उस राज्य का राशन कार्ड बनवाने की दरकार नहीं है। राशन केंद्र पर इस योजना के तहत बायोमेट्रिक सिस्टम के आधार पर कार्ड धारक की जानकारी वेरीफाई कर उसे राशन मुहैया कराया जाता है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है?

मोदी सरकार का उद्देश्य वन नेशन वन राशन (One Nation One Ration) योजना को देश भर में लागू करना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है फर्जी राशन कार्ड से होने वाले अनाज वितरण पर पूरी तरह रोक लगाना और राशन के नाम पर हो रहे भ्रष्टाचार पर प्रतिबंध लगना। प्रवासी मजदूरों और गरीब इस योजना से सबसे ज्यादा लाभान्वित होंगे।

वन नेशन वन राशन के ऐप से क्या फायदा?

वन नेशन वन राशन योजना को जन जन तक पहुँचाने के लिए मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया गया है। इस ऐप का नाम ‘मेरा राशन’ है। इस ऐप की मदद से आस-पास मौजूद राशन की दुकानों का आसानी से पता लगता है ताकि जरूरमंद राशन ले सकें। ऐप को आप यहाँ डाउनलोड कर सकते हैं –

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.nic.onenationonecard

Leave a Comment