सब्सिडी से जुड़ी यह बातें जान लीजिए | Facts Related to Subsidy

Facts Related to Subsidy : ‘सब्सिडी’ यह शब्द हम तकरीबन हर दिन सुनते हैं। कभी रास्ते पर चलते हुए, कभी न्यूज़ चैनल पर तो कभी नेताओं के भाषण में। मगर ज्यादातर लोगों को इसका अर्थ नहीं मालूम है। यह आर्टिकल उन लोगों के लिए ही है। इस आर्टिकल में हम आपको सरल शब्दों में समझायेंगे कि आखिर सब्सिडी क्या है।

What is Subsidy?

लोकतंत्र में सरकार से मिलने वाली सहायता को सब्सिडी कहा जाता है। यह सहायता आर्थिक भी हो सकती है और सामाजिक थी। एक छोटे उदाहरण से सब्सिडी को समझते हैं। आपको एक गाड़ी लेनी है जिसका मूल्य 100 रुपये है। अब सरकार आपको यह गाड़ी खरिदने के लिए 30% सब्सिडी यानी 30 रुपये देती है तो आपको मात्र 70 रुपये चुकाने होंगे। बस इसे ही सब्सिडी कहते हैं।

अब सवाल यह है कि क्या सरकार समाज के हर तबके को सब्सिडी देती है? इसका जवाब है नहीं। सब्सिडी देने के पीछे सरकार का मंतव्य रहता है आर्थिक रुप से कमजोर वर्गों को सहायता प्रदान करना। वांछित लोगों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना हर सरकार की प्राथमिकता होती है और इसके लिए सरकार सब्सिडी देकर अपनी जिम्मेदारी निभाती है।

Types of Subsidy :

Tax Subsidy : टैक्स सब्सिडी अमूमन बड़े-बड़े उद्योग घरानों को प्रदान की जाती है ताकि इससे वो अधिक लागत की हालत में उत्पादन करना बंद ना करें और नौजवानों को रोजगार मिलता रहे।

Religious Subsidy : यह सब्सिडी अलग अलग पंथ के लोगों को उनके धार्मिक स्थल पर जाने के लिए सरकार प्रदान करती है। जैसे हज सब्सिडी मुस्लिम समुदाय को मिलता है।

Interest Subsidy : इस सब्सिडी के अंदर शिक्षा ऋण पर लगने वाले ब्याज का भुगतान सरकार करती है और किसानों और उद्योगपतियों का ब्याज भी सरकार द्वारा माफ़ किया जाता है।

Subsidy for Farmers : किसानों को आर्थिक बल देने के लिए यह उन्हें सब्सिडी प्रदान करती है। जैसे उर्वरक की खरीद पर सब्सिडी, कैश सब्सिडी, कृषि लोन पर ब्याज आदि।

Food Subsidy : सभी को दो वक़्त भोजन मिले इसलिये सरकार कम से कम दामों पर खाद्यान्न (चावल, गेहूं, चीनी) मुहैया कराती है।

Leave a Comment