WHAT IS ASTHMA : क्या होता है अस्थमा , जानिए इसके लक्षण और उपचार

 

अस्थमा : दुनिया इस समय 21वीं सदी में प्रवेश कर चुकी है ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण कि गिरफ्त में दुनिया आ चुकी है । जिसकी वजह से लोगों को अस्थमा जैसी बीमारी घेर रही है।  कई प्रतिशत लोग इसकी चपेट में आ चुकी है साथ ही अपनी जिंदगी से भी हाथ धोना पड़ रहा है । एक सर्वे के अनुसार भारत में हर वर्ष 20 मिलियन लोग अस्थमा से पीड़ित रहते है । अस्थमा एक भयावह बीमारी बनती जा रही है आइए जानते है आखिर यह अस्थमा बीमारी है क्या ।

क्या है अस्थमा

किसी भी व्यक्ति के फेफड़ों तक हवा का ना पहुंच पाना और सांस लेने में दिक्कत होना ही अस्थमा कहलाता है । इस बीमारी की वजह से व्यक्ति को सांस लेने में अधिक जोर लगाना पड़ता है लगातार खांसी आती है सांस फूलती है अलग अलग लोगो पर अस्थमा का असर अलग सा रहता है कुछ लोगों की वजह से यह एक समस्या है तो कई लोगों को बड़ी परेशानी उठानी पड़ती है । अस्थमा के मरीजों में यह धारणा गलत है कि सिर्फ मोटे व्यक्ति को ही अस्थमा होता है इसमें सामान्य व्यक्ति को भी अस्थमा  बीमारी से दो चार होना पड़ता है । अस्थमा जैसी गम्भीर बीमारी पुरुष और महिला दोनों को होती है । वैसे यह बीमारी बढ़ती उम्र। के साथ होती है लेकिन अब अस्थमा के मरीज हर उम्र के लोगों मे हो रही है ।

पढ़े मिलती जुलती खबरें   WHAT IS RHEUMATOID ARTHRITIS : क्या होता है रूमेटाइड आर्थराइटिस , किस कारण होता है जानिए इसके लक्षण

किस कारण होता है अस्थमा

अभी तक इस बीमारी का सही से पता नहीं लगाया गया है कि अस्थमा होने के पीछे असल कारण क्या है डॉक्टर और शोधकर्ता इसके पीछे दूषित पर्यावरण को जिम्मेदार ठहराते है । इसके अलावा अस्थमा जेनेटिक लक्षणों की वजह से होता है सिगरेट पीना , तम्बाकू खाना , आदि की वजह से फेफड़े में इन्फेक्शन होता है जिसकी वजह से दमा बीमारी होती है उम्र के हिसाब से अधिक मोटापा भी अस्थमा बीमारी का कारण है। अधिक टेंशन लेने वाले लोगों में यह बीमारी होती है । कई बार देखा गया है कि कुछ लोगों को किसी चीज से एलर्जी होती है जिससे सांस लेने में तकलीफ़ होती है । जो अस्थमा का कारण बनता है । प्रदूषण भी अस्थमा बीमारी की वजह है ।

क्या है अस्थमा बीमारी के लक्षण

आमतौर पर देखा गया है कि अस्थमा बीमारी के लक्षण में सांस फूलना, सीने में दर्द होना ,बार बार खांसी आना इसके लक्षण है लेकिन कई बार मरीज को अस्थमा बीमारी तो होती है लेकिन उसमे इसके लक्षण नजर नहीं आते है । अगर कोई व्यक्ति केमिकल और स्ट्रॉन्ग परफ्यूम के सम्पर्क में आता है तो उसे अस्थमा होने के चांस रहते है अस्थमा पराग के कारण भी हो सकता है । मौसम बदलने के कारण भी अस्थमा के मरीज बढ़ते है ऐसा सर्दियों मे ज्यादा देखा गया है सर्दियों में ठंड की वजह से शरीर की माशपेशिया सिकुड़ जाती है जिससे दबाव बढ़ता है सांस लेने में तकलीफ़ होती है । पालतू पशुओं के बालों से खेलने के कारण भी अस्थमा बीमारी की गिरफ्त में आ सकते है ।

पढ़े मिलती जुलती खबरें   WHAT IS ANEMIA : क्या होता है एनीमिया , जानिए लक्षण और बचाव

कैसे करें इसका इलाज

अस्थमा एक ऐसी गम्भीर बीमारी है जो आसानी से ठीक नहीं होती है इसके लिए मरीज को लंबी लड़ाई लड़नी पड़ती है आप डॉक्टर की मदद से इस बीमारी से निजात पा सकते है । मरीज को डॉक्टर के कहे अनुसार बातों का ध्यान रखना चाहिए समय पर दवा का सेवन करें । अस्थमा के लिए वैक्सीन का उपयोग भी कारगर है । अस्थमा का इलाज सिर्फ एलोपैथिक नहीं है बल्कि आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक इलाज भी है।  अस्थमा के मरीज अगर योगा करेंगे तो उन्हे इस बीमारी से निजात मिल सकती है । शरीर को स्वास्थ्य रखने के लिए ऐसे मरीजों को साधारण भोजन करना चाहिए । ज्यादा तेल और पॉम ऑयल से बने खाद्य पदार्थ का सेवन न करें। । खुली हवा भी सुबह बैठे।  अस्थमा वाले मरीज को दूध अंडा, बादाम , मछली नहीं खाना चाहिए । 

Leave a Comment

Infinix Hot 12 Play: बजट स्मार्टफोन हुआ भारत में लॉन्च, सबसे किफायती Latest upcoming cars 2022 : सभी जानकारी Best scooty in india under 70 k with all features . कीवे ने लॉन्च किए अपने 3 दोपहिया वाहन, जानें सभी स्पेसिफिकेशन चीन के जंगल में विशाल सिंकहोल मिला। सभी जानकारी प्राप्त करें