WHAT IS SOFTWARE : क्या होता है सॉफ्टवेयर , कितने प्रकार के होते है कैसे करते है उपयोग पूरी जानकारी

 

सॉफ्टवेयर : दोस्तों आप सभी के हाथों में मोबाइल तो होगा ही , और इसका आप बखूबी इस्तेमाल भी करते है आपके पास कम्प्यूटर और लैपटॉप भी है उसका उपयोग आप ऑफिस वर्क के लिए करते है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि जिस एंड्रॉयड स्मार्टफोन और टैबलेट, कम्प्यूटर का हम इस्तेमाल करते है वह चलता कैसे है इसके पीछे ऐसी क्या चीज है जो हमें इतनी अच्छी सुविधा प्रदान करती है यह सब सॉफ्टवेर की वजह से होता है ये सॉफ्टवेर क्या होता है किसे कहते है इसका उपयोग कैसे करते है कितने प्रकार के होते है । आपको आज हम इस आर्टिकल के बारे मे पूरी जानकारी देंगे । इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िएगा ।

क्या होते है सॉफ्टवेयर

सॉफ्टवेयर वे होते है जो बहुत सारे प्रोग्राम्स को संग्रह करता है यह एक कम्प्यूटर के विशिष्ठ कार्य को निष्पादन करता है । हम कम्प्यूटर में जितने भी टास्क करते है वे सभी इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से सम्पन्न होते है। सॉफ्टवेयर उन सेट ऑफ़ इंस्ट्रक्शन को रेफर करता है जिन्हे फेड किया जा सके । जिससे पूरे कम्प्यूटर सिस्टम को आगे बढ़ा सके । साथ ही दूसरे हार्डवेयर कम्पोनेन्ट को प्रोसेस भी कर सके । अगर अभी तक आप समझ नहीं पाए तो कोई बात नहीं और आसान भाषा में आपको बताते है । दरअसल सॉफ्टवेयर एक एप्लीकेशन है सॉफ्टवेर का इस्तेमाल कम्प्यूटर में चलने वाली एप्लीकेशन है इस सॉफ्टवेयर के बिना हम किसी भी कम्प्यूटर को ऑपरेट नहीं कर सकते है ।

कितने प्रकार के होते है सॉफ्टवेर

हम अपने दैनिक जीवन में लैपटॉप, कम्प्यूटर , या फिर स्मार्टफोन पर कोई न कोई नया सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर लेते है । आपको बताते है कि सॉफ्टवेर कितने प्रकार के होते है । ये सॉफ्टवेर तीन प्रकार के होते है ।

सिस्टम सॉफ्टवेर – यह हमारे कम्प्यूटर के हार्डवेयर को मैनेज करते है और कंट्रोल करते है । इन्हे ही सिस्टम सॉफ्टवेर कहते है । सॉफ्टवेयर के कारण हमारे कम्प्यूटर में एप्लीकेशन सॉफ्टवेर चलते है । जैसे आप जो भी विंडो इस्तेमाल करते है ये सिस्टम सॉफ्टवेर ग्रुप के होते है ।

एप्लिकेशन सॉफ्टवेर – सामान्यतया हमारे कम्प्यूटर में डिपेंडेड मुख्य कामों के लिए लिखे जाने वाले प्रोग्राम को । एप्लिकेशन सॉफ्टवेर कहा जाता है । अलग अलग इस्तेमाल के लिए हमारी आवश्यकता के अनुसार सॉफ्टवेर होते है । किसे बड़ी बड़ी कम्पनी ध्यान में रखकर बनाती है आपको बता दें कि इनमें से कुछ एप्लीकेशन आपको फ्री में उपलब्ध कराई जाती है । तो वहीं कुछ के लिए भुगतान करना पड़ता है ।

यूटिलिटी सॉफ्टवेर  – कम्प्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विस एवम रिपेयर करने का काम यूटिलिटी सॉफ्टवेर का ही होता है । इसके अलावा यूटिलिटी सॉफ्टवेर कुछ हार्डवेयर की सर्विस करने का कार्य भी करता है । इससे उसकी गति को पावर मिलती है ।

 

 

Leave a Comment